Browsing Category

जन की बात

मीडिया में जनता के मुद्दों के लिए अब जगह नहीं है। इस पोर्टल पर जनता के मुद्दों को ज्यादा से ज्यादा जगह देने का प्रयास किया जाता है।

संविधान बचाने के लिए होना होगा एकजुट: प्रशांत भूषण

सुप्रीम कोर्ट के सुप्रसिद्ध वकील और एक्टिविस्ट प्रशांत भूषण ने कहा है कि मौजूदा दौर में संविधान और संवैध्धनिक संस्थाओं पर हमले तेज हो गये हैं। इस तरह के हमलों की चपेट में हमारी सभ्यता भी है। इन हमलों से जो तबाही होगी, उसका दंश हम सभी को…

सुरंग हादसा: शर्म को गर्व में बदलने का खेल

त्रिलोचन भट्ट  41 जिन्दगियां पूरे 17 दिन अंधेरी सुरंग में फंसी रही, टेक्नोलॉजी के इस युग में, जब हम इस बात पर इतरा रहे हों कि हम चांद पर पहुंच गये हैं, यह शर्मनाक स्थिति है। लेकिन, बेशर्मी देखिये कि 17 दिन बाद जब सुरंग में फंसे इन मजदूरों…

देहरादून में कारपोरेट के खिलाफ किसान-मजदूर महापड़ाव

देहरादून किसान मजदूर  महापड़ाव के पहला दिन संविधान दिवस के रूप में मनाया गया। इस मौके पर संविधान की प्रस्तावना की शपथ ली गई और संविधान की मूल भावना के साथ छेड़छाड़ करने के प्रयासों का पुरजोर विरोध किया गया। इस मौके पर उत्तरकाशी की सिलक्यारा…

संविधान दिवस: मजदूरों को तो कभी नागरिक माना ही नहीं

त्रिलोचन भट्ट आज संविधान दिवस है। आज ही के दिन, यानी 26 नवंबर 1949 को 26 नवंबर 1949 को संविधान सभा में भारत के संविधान को अंगीकृत किया गया था। संविधान की प्रस्तावना कहती है कि भारत के समस्त नागरिकों को सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक…

रेस्क्यू में फोकस सिर्फ प्लान-एक पर ही क्यों है ?

त्रिलोचन भट्ट  13 दिन से सुरंग में फंसे मजदूरों के रेस्क्यू के नाम पर अब तो लगता है मजाक किया जा रहा है। एक पूरा दिन सुरंग के पास बिताने में बाद मुझे यह बात तो अच्छी तरह से समझ आ गई थी कि मजदूरों को बचाने के बजाय सुरंग को बचाने पर…

टनल हादसा : कहीं उपवास, कहीं दिया ज्ञापन

उत्तरकाशी के सिलक्यारा में 6 दिन बाद भी टनल में फंसे हुए 41 लोगों को रेस्क्यू न किये जाने पर जन संगठनों ने नाराजगी जताई है। टनल के फंसे हुए लोगों के स्वास्थ्य को लेकर चिन्ता व्यक्त करते हुए इन संगठनों ने जिला अधिकारी कार्यालय पहुंचकर…

सुरंग से अच्छी खबर आने का इंतजार बढ़ा

त्रिलोचन भट्ट अब से करीब 48 घंटे पहले यानी 15 नवम्बर की दोपहर को टनल रेस्क्यू की जो लगभग आखिरी आधिकारिक अपडेट आई थी, उससे यह तो साफ हो ही गया था कि अब तक जो कुछ किया जा रहा था, उसमें इतनी गंभीरता तो नहीं थी कि ऑपरेशन सफल हो जाता।…

टनल हादसा रेस्क्यू : दावे हैं दावों का क्या

अतुल सती जोशीमठ फरवरी माह की सात को 2021 में 200 से ज्यादा लोग एक जलविद्युत परियोजना की सुरंग में दफ्न हो गए थे । आपदा के कुछ ही बाद टीवी के सैकड़ों पर्दों पर राहत / सुरंग से लोगों को तुरन्त निकालने की युद्धस्तर की कवायद…

सुरंग बनाने में मानकों की अनदेखी, एनएचआईडीसीएल जिम्मेदार

इंद्रेश मैखुरी राज्य सचिव भा क पा (माले ) उत्तरकाशी का सुरंग हादसा कोई  पहला मौका नहीं है जबकि इस परियोजना निर्माता कंपनी की लापरवाही से लोगों का जीवन खतरे में पड़ा. 21 दिसंबर 2018 को रुद्रप्रयाग-गौरीकुंड राजमार्ग पर…

इन सुरंगों में अंधेरा है

जनकवि अतुल शर्मा का गीत ( सुरंग में  फंसे मज़दूरों के नाम)  सांस घुटती जा रही है आस लुटती जा रही है इन सुरंगों में अंधेरा है मौत के साये ने घेरा है रास्ते हैं बंद घुटती सांस का जंगल एक सदी सा…