Browsing Tag

त्रिलोचन भटृट

भारत बनाया जा रहा तालिबानी देश

जीतेगा भारत हारेगी नफरत अभियान के तहत सामाजिक संगठनों और विपक्षी राजनीतिक दलों से देहरादून में गणतंत्र दिवस के मौके पर ‘संविधान बचाओ, देश बचाओ‘ यात्रा निकाली। बाबा साहेब अंबेडकर की प्रतिमा से शुरू हुई यह यात्रा गांधी पार्क तक पहुंची और…

त्रिलोचन भट्ट उम्मीद है आप राम मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा समारोह के फारिग हो चुके होंगे। अब आगे क्या करना है, मुझे लगता है, इस पर बात करने की जरूरत है। राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा शंकराचार्यों की सलाह और संवैधानिक मूल्यों की अनदेखी कर…

ढोल बिना पहाड़ सूना

ढोल पहाड़ की शान हैं। यदि कहा जाय कि ढोल के बिना पहाड़ सूने होते हैं तो इसमें गलत नहीं। हर संस्कार में, हर खुशी में, हर पर्व पर ढोल बजते हैं। लेकिन ढोल वादकों को कभंी सम्मान का अधिकारी नहीं माना गया। 18 जनवरी 2024 की शाम को जब दून पुस्तकालय…

नामवर सिंह ने पकड़ा था तुलसी दोहाशतक का फर्जीवाड़ा

राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा के लिए बनाये जा रहे माहौल के बीच नीचे लिखी  पंक्तियाँ व्हाट्सऐप पर एक बार फिर बड़े पैमाने पर प्रचारित की जा रही हैं। दावा है कि रामचरित मानस के रचयिता तुलसीदास ने राममंदिर गिराकर बाबरी मस्जिद गिराये जाने से…

एक था रोहित वेमुला

आठ साल पहले आज के दिन हैदराबाद सेंट्रल यूनिवर्सिटी पीएच. डी.छात्र रोहित वेमुला के सामने ऐसी स्थितियां बना दी गयी कि उनको प्राण गंवा देने पड़े. आज रोहित वेमुला को याद करते हुए उनका यह अंतिम पत्र है जरूर पढियेगा..... गुड मॉर्निंग, आप जब…

अयोध्या एक तहज़ीब के मर जाने की कहानी है

सरोज मिश्र कहते हैं अयोध्या में राम जन्मे, वहीं खेले-कूदे, बड़े हुए, बनवास भेजे गये, लौट कर आये तो वहाँ राज भी किया। उनकी ज़िंदगी के हर पल को याद करने के लिए एक मंदिर बनाया गया। जहाँ खेले, वहाँ गुलेला मंदिर है। जहाँ पढ़ाई की, वहाँ वशिष्ठ…

संविधान और मतदाताओं के बारे में

हिलाल अहमद आम चुनाव कौन जीतता है सिर्फ इसी का मायने नहीं है। प्रजातंत्र और सामाजिक न्याय के किन विचारों को गति मिलती है के मायने ज्यादा हैं। लोक सभा का 2024 निर्वाचन एक महत्वपूर्ण राजनैतिक आयोजन होने जा रहा है। एक दशक तक सरकार में रहने…

संवैधानिक अधिकारों के लिए एकजुट हों महिलाएं

उत्तराखंड महिला मंच का 30वां स्थापना दिवस बुधवार को नगर निगम ऑडिटोरियम में मनाया गया। इस मौके पर आयोजित सम्मेलन में महिला अधिकारों, महिलाओं पर होने वाले अपराध और घरेलू हिंसा, महिला कानून, नशे की बढ़ती प्रवृत्ति से महिलाओं पर पड़ने वाले प्रभाव…

संसद में धुआं-धुआं: कैसे लग गई सुरक्षा में सेंध!

त्रिलोचन भट्ट तू इधर-उधर की बात न कर, ये बता कि काफिला क्यों लुटा? मुझे रहजनों से गिला नहीं, तिरी रहबरी का सवाल है। बहरों को सुनाने के लिए धमाके करने पड़ते हैं, यह बात अपनी जगह बिल्कुल दुरुस्त है। शहीदे आजम भगत सिंह ने भी ये बात कही…

अनुच्छेद 370 और उसका इतिहास

त्रिलोचन भट्ट  सोशल मीडिया पर अनुच्छेद 370 को लेकर कल से बहस छिडी़ हुई है। कुछ लोग सीजेआई पर टिप्पणियां कर रहे हैं। इस लेख  में मैं 370 को लेकर कई महत्वपूर्ण जानकारियां आपके साथ साझा करूंगा। बात धारा 371 की भी होगी और उत्तराखंड की…